सोमवार, अप्रैल 25, 2011

अघोरेश्वर भगवान राम जीः अस्वस्थता

अमेरिका में न्यूयार्क स्थित माउन्ट सिनाई चिकित्सालय से पूज्य बाबा दि. २८ जनवरी १९८८ को सम्पन्न सफल आपरेशन के पश्चात पूर्णतः स्वस्थ होकर बनारस लौट आये । बाबा के डाक्टर श्री बरोज, उनके सहयोगी, नर्स तथा अन्य सभी ने बाबा के स्वास्थ्य के लिये प्रार्थना की एवँ भावभीनी बिदाई दी थी । डाक्टर बरोज ने कई आश्चर्यजनक घटनाओं को घटित होते प्रत्यक्ष देखा था । उनका चिकित्साशास्त्र जनित ज्ञान अनेक अवसरों पर असफल सिद्ध हो चुका था । इन सब बातों से उनका श्रद्धावनत होना स्वाभाविक ही कहा जायेगा । बिदाई के अवसर पर डाक्टर बरोज ने एक श्रद्धालु की तरह बाबा के चरणों प्रणिपात किया था । स्वदेश लौटकर बाबा समयानुकूल सभी नित्यक्रियायें, दवाई, भोजन लेने लगे । पुरानी दिनचर्या में लौटने के बाद भी बाबा को इन्फेक्शन से बचाव के लिये कुछएक बँदिशों का पालन करना ही पड़ता था । सन् १९८९, से १९९१ ई० में प्रतिवर्ष एकबार रुटीन चेकप के लिये बाबा अमेरिका जाते रहे । सबकुछ ठीकठाक चल रहा था .






3 टिप्‍पणियां:

  1. धार्मिक मुद्दों पर परिचर्चा करने से आप घबराते क्यों है, आप अच्छी तरह जानते हैं बिना बात किये विवाद ख़त्म नहीं होते. धार्मिक चर्चाओ का पहला मंच ,
    यदि आप भारत माँ के सच्चे सपूत है. धर्म का पालन करने वाले हिन्दू हैं तो
    आईये " हल्ला बोल" के समर्थक बनकर धर्म और देश की आवाज़ बुलंद कीजिये...
    अपने लेख को हिन्दुओ की आवाज़ बनायें.
    इस ब्लॉग के लेखक बनने के लिए. हमें इ-मेल करें.
    हमारा पता है.... hindukiawaz@gmail.com
    समय मिले तो इस पोस्ट को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच
    हल्ला बोल

    उत्तर देंहटाएं
  2. aghoreshwar sarkar ke shishya samuhratna ji ki bahut sarthak jankari di hai apne...........jai sarkar baba ki jai ...............jai baba ji ki jai.........................

    उत्तर देंहटाएं
  3. aap ek important bat batna bhul gaye ki avdhoot samuhratn ram ji baba ko pujay aghoreshwar ne unke sharir ki mata ji se swayam dan manga tha jo sirf ek hi mudiya sadhu ke sath hua he isiliye puajy aghoreshwar ne unka nam samuh ka ratn arthat shri samuh ratn ram ji rakha....jay aghoreshwar jay avdhoot babaji

    उत्तर देंहटाएं